Sunday, July 26, 2009

ह्वेल कभी चल सकती थीं

लंबे समय से जलजीवन बिताते आने के कारण आजकल की ह्वेलों की शरीर-रचना में अनेक परिवर्तन हो गए हैं। इनमें से प्रमुख पिछली टांगों का लुप्त हो जाना है। परंतु इंटरनेशनल वाइल्डलाइफ नामक अमरीकी पत्रिका के अनुसार मिस्र के सागर तट से चार करोड़ वर्ष पुरानी ह्वेल की जो हड्डियां मिली हैं, उनसे प्रकट होता है कि पहले के जमाने की ह्वेलों में टांगें हुआ करती थीं। 18 मीटर लंबे इन प्राचीन ह्वेलों में लगभग 60 सेंटीमीटर लंबी पिछली टांगें पाई गई हैं। इन टांगों में घुटने, ऐड़ियां और अंगुलियां मौजूद हैं।

कुछ विशेषज्ञ मानते हैं कि ये टांगें ह्वेलों को सागर के तल पर चलने और छिछले पानी में आगे बढ़ने में सहायता करती होंगी। मैथुन के समय भी ये उपयोगी रही होंगी।

3 comments:

BhojpuriKhoj said...

bahut badhiya ji...

P.N. Subramanian said...

वे स्तनपायी जो हैं.यह अनुमान बिलकुल सही प्रतीत होता है.

Science Bloggers Association said...

Aashcharya janak.

Post a Comment

 

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट